(COVID-19) के प्रसार को रोकने हेतु ‘करने योग्य’ तथा ‘नहीं करने योग्य’ कार्यों की निर्देशात्मक सूची कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग द्वारा किया गया जारी

0
234

बसंत.गुमला.
वैश्विक महामारी घोषित नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन की अवधि 17 मई 2020 तक विस्तारित की गई है।
झारखंड सरकार के कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग के द्वारा नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) के प्रसार को रोकने के उपाय के संबंध में कार्यालय ज्ञापन जारी किया गया है। जिसमें सभी कर्मचारियों तथा मंत्रालयों / विभागों द्वारा कुछ एहतियाती उपाय किए जाने की आवश्यकता बताई गई है। इस संबंध में सरकारी कर्मचारियों तथा सार्वजनिक हित में ‘करने योग्य’ तथा ‘नहीं करने योग्य’ कार्यों की निर्देशात्मक सूची सभी विभाग / सभी विभागाध्यक्ष / सभी प्रमंडलीय आयुक्त / सभी उपायुक्त को प्रेषित की गई है।

क्या करें-

• निजी स्वच्छता तथा शारीरिक दूरी बनाए रखें।

• बार-बार हाथों को साफ करते रहें। हाथों को साबुन एवं पानी से धोयें या अल्कोहल युक्त हैंड्रब से हाथ रगड़ें।

• छींकते एवं खांसते वक्त अपने मुंह और नाक को रूमाल अथवा टिश्यू पेपर से ढक कर रखें।

• इस्तेमाल के तुरंत बाद टिश्यू को कूड़ेदान में ही फेंकें।

• किसी व्यक्ति से बात करते वक्त एक सुरक्षित दूरी बनाए रखें, विशेषकर उनसे जिनमें बुखार जैसे लक्षण दिखें।

• छींकते और खांसते समय कोहनी के अंदर वाले हिस्से से मुंह ढंकें ताकि हथेली कफ से दूषित नहीं हो।

• नियमित रूप से शरीर का तापमान लेते रहें और सांस संबंधी लक्षणों पर ध्यान देते रहें। अगर अस्वस्थ (बुखार, सांस लेने में कठिनाई और खांसी) महसूस करें तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। डॉक्टर के पास जाते समय अपने मुंह और नाक को मास्क अथवा कपड़े से ढक लें।

• बुखार/ फ्लू जैसे चिन्हों/ लक्षण होने पर स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग के 24 * 7 के टोल फ्री नंबर 104 पर कॉल करें।

क्या ना करें —

• हाथ मिलाना।

• किसी के भी नजदीक जाना, अगर आप खांसी या बुखार महसूस कर रहे हों।

• अपनी आंखों, नाक और मुंह को छूना।

• अपनी हथेलियों पर खांसना अथवा छींकना।

• सार्वजनिक स्थलों पर थूकना।

• अनावश्यक यात्रा करना, खासकर किसी प्रभावित क्षेत्र की।

• बड़ी सभा में भाग लेना, जिसमें कैंटीन में समूह में बैठना शामिल है।

• जिम, क्लब व भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाना।

• अफवाह अथवा भय फैलाना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here