0
84

आदिवासियों ने फूंका विधायक का पुतला,जताया रोष

प्रहलाद महली ब्यूरो चीफ(झाफ्रं)

आदिवासी सेंगेल अभियान चास प्रखंड के कनारी पंचायत के बरूआटाड के द्वारा ओलचिकी लिपि का विरोध कर रहे झामुमो शिकारीपाड़ा के विधायक नलिन सोरेन पर रोष जताते हुए उनका पुतला दहन रविवार को बरुआटाड में किया गया। कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे सेंगेल अभियान के बोकारो जिला मुख्य संयोजक सुखदेव मुर्मू  ने कहा कि आदिवासी सेंगेल अभियान लगातार ओलचिकी लिपि को आठवीं अनुसूची में शामिल कर झारखंड में प्रथम राजभाषा बनाने की मांग करती आ रही है। जबकि ओलचिकी लिपि  (संताली भाषा) का विरोध कर विधायक नलिनी सोरेन ने रोमन लिपि  (Roman Script) से लिखे जाने की वकालत की है।जिसका आदिवासी समाज पुरजोर विरोध करती है।कार्यक्रम में शामिल लोगों ने इस दौरान झामुमो विधायक नलिन सोरेन मुर्दाबाद,ओलचिकी लिपि विरोधी होश आओ, रोम का रोमन लिपि आदिवासियों के ऊपर थोपना बंद करो आदि नारे लगाएं गए।मौके पर बोकारो जिला संयोजक सुग्दा किस्कू,भीम मुर्मू ,जगदेव हेम्बरम,राखो किस्कू, दिलशन टुडू,सावित्री,समेत अन्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here